Friday, September 23, 2022

चाहते हैं आप का बच्चा समाज में बने सबसे काबिल इंसान, तो करें ये काम..

- Advertisement -

अगर आप चाहते हैं आप का बच्चा एक अच्छा इंसान बने उसकी चारों तरफ तारीफ हो. एक संस्कारी और आज्ञाकारी बच्चा बने तो उसके लिए एक अच्छी पेरेंटिंग जरूरी है. आप की परवरिश अच्छी होगी पेरेंटिंग अच्छी होगी तो आप का बच्चा वो सब करेगा जो आप चाहते हैं. उसके लिए जरुरी है माता पिता दोनों का बच्चे के साथ समय बिताना उसे अच्छी आदतें सीखना. अपने बच्चों को सोशल बनाए उससे बाते करें रिश्तदारों से के घर लेकर जाए. बच्चा जितना सोशल रहेगा उतना उसके सोचने की क्षमता बढ़ेगी.

- Advertisement -

अकसर बच्चा वही करता है जो वह देखता है जो हम बोलते हैं वो नहीं करता. बच्चे कॉपी करने में अच्छे होते हैं सुन के करने में नहीं , इसलिए वे घर में जो देखेंगे वही करेंगे. हमे बच्चों के सामने कुछ ऐसा नहीं करना चाहिए जिससे उन के उपर गहरा असर पड़े. बच्चों की बातों को समझे उनके साथ फ्रेंड की तरह बातें करें तभी आप का बच्चा अच्छी आदतें सिख पाएगा. और आपसे अपनी बाते शेयर करेगा.

सोशल कैसे बनाए

सोशल का मतलब है बच्चा अलग अलग लोगों से बात कर पाए. हर सिचुएशन में अपने आप को हैंडल कर सके. लोगों के सामने अपने आप को खुल कर एक्सप्रेस कर पाए. सबके साथ हंस कर मिलजुल कर बातें करने में ना हिचकिचाए.

- Advertisement -

 

लोगों से बात करने का तरीका

बच्चों को सोशल एक्टिविटी में ज्यादा से ज्यादा शामिल करें, अपने आसपास में रहने वाले बड़े बुजुर्गों के साथ आदर से बात करना सिखाएं. हैंडशेक करने का तरीका दोस्तों से मिलने पर कॉन्फिडेंट के साथ हैंडशेक करना.

थैंक यूं बोलना

बच्चों को सिखाए की अगर उनकी मदद कोई करे तो उन्हें धन्यवाद बोले.  अपने घर में काम करनेवाली मेड जब उनका कोई काम करे तो उसे थैंक यू बोले. इससे उनकी विनम्रता झलकती और लोग बच्चों को प्यार की भावना से देखते हैं.

छींकते व खांसते वक्त मुंह को ढकना

अगर आप का बच्चा कहीं बैठा है और उसे खांसी या छींक  आ रही है तो मुंह को रुमाल से ढक लेना चाहिए, ये सारी बातें बताना पैरेंट्स की  जिम्मेदारी होती है.

मेहमानों को आदर देना

घर आए मेहमानों का स्वागत कैसे करते हैं, अपने से बड़ों को नमस्ते करना. ये सारी बातें आप के बच्चे को लोगों की नजरों में ऊपर उठाती है और आप के बच्चे को भी लोग वही मान सम्मान देते हैं जो वे दूसरों  को देता है.

बच्चों से बात करते समय फोन ना देखें

जब आप का बच्चा आप से कुछ बात कर रहा हो , तो आप अपना फोन रख दें. बात करते वक्त फोन पर चैट और वीडियो देखने में बिजी ना होकर बच्चे की बात ध्यान से सुने. ये सारी बातें और आदतें आप के बच्चे की ग्रोथ में मददगार साबित होगी, इसे अपनाकर अपने बच्चे को समाज में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें.

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular