Saturday, January 22, 2022
HomePopular Storyजिस जगह पर रोका गया पीएम का काफिला, उससे कुछ दूरी पर...

जिस जगह पर रोका गया पीएम का काफिला, उससे कुछ दूरी पर मिली पाकिस्तानी नाव, जांच में जुटी एजेंसियां

- Advertisement -

पांच जनवरी को प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में हुई चूक का मामला दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। बीजेपी की तरफ से आरोप लगाए जा रहे हैं कि पीएम की सुरक्षा की जिम्मेदारी पंजाब सरकार की थी लेकिन उन्होंने जानबूझकर लापरवाही बरती। जबकि कांग्रेस सरकार का कहना है कि पीएम की सुरक्षा की जिम्मेदारी उनके एसपीजी कमांडोज़ की होती है, लेकिन फिर भी हमने इंतज़ाम किये थे।

बता दें, बुधवार को पीएम मोदी फिरोजपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करने के लिए पहुंचने वाले थे। इस दौरान मौसम खराब होने की वजह से उनका प्लेन बठिंडा एयरपोर्ट पर ही लैंड कर गया और पीएम मोदी बॉय रोड गंतव्य स्थान की ओर बढ़ गए।

20 मिनट तक रुका रहा पीएम का काफिला

इस दौरान पीएम का काफिला कुछ किसानों के एक जत्थे द्वारा रोक लिया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, किसानों ने पीएम की गाड़ी के आगे जमावड़ा लगाकर तकरबीन 20 मिनट तक धरना प्रदर्शन किया। जिसकी वजह से पीएम मोदी को बठिंडा एयरपोर्ट वापिस लौटना पड़ा।

गृह मंत्रालय ने दिए जांच के आदेश

उधर पीएम मोदी की पंजाब में एंट्री पर लगे बैन की खबर आग की तरह पूरे देश में फैल गई। इस खबर से पूरे देश में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार को इस पूरे मसले पर तलब किया और जल्द से जल्द रिपोर्ट दाखिल करने का आदेश दिया। साथ ही गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को इस चूक की जिम्मेदारी तय करने और सख्त कार्रवाई करने को कहा है। इस घटना पर फिरोज़पुर के एसएसपी हरमनदीप सिंह हंस को निलंबित कर दिया गया है।

‘मैं जिंदा वापिस लौट सका’

वहीं, पीएम मोदी ने बठिंडा एयरपोर्ट पर एक अधिकारी से कहा कि ‘अपने सीएम को थैंक्स कहना कि मैं जिंदा वापिस लौट सका’। पीएम के इस बयान ने चारों तरफ सरगर्मी बढ़ा दी।

भाजपा ने कांग्रेस की सरकार पर आरोपों के कई वार किये। इनमें सीएम चन्नी के अलावा कांग्रेस नेतृत्व पर भी हमला बोला गया। पीएम की सुरक्षा में हुई सेंध का मामला इतना बढ़ गया कि केंद्र को पांच सदस्यीय टीम का गठन करना पड़ा है। अब यह टीम इस लापरवाही की असली वजह की जड़ तक जाएगी ओर दोषियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगी।

पाकिस्तानी नाव मिलने से मचा हड़कंप

जानकारी के मुताबिक, जिस इलाके में पीएम का काफिला रोका गया था उससे महज़ कुछ ही किमी की दूरी पर एक पाकिस्तानी नाव मिली है। यह नाव बीएसएफ के जवानों को सतलुज नदी के किनारे पर मिली है। रिपोर्ट्स के अनुसार, भारत और पाकिस्तान के बीच बहने वाली सतलुज नदी का बहाव जब तेज़ होता है तो कई बार नाव बहकर भारतीय सीमा क्षेत्र में प्रवेश कर जाती हैं। हालांकि, सुरक्षा एजेंसियों ने इस पाकिस्तानी नाव को लेकर जांच शुरु कर दी है। बीएसएफ की कई टुकड़ियां इस बात की जानकारी जुटा रही हैं कि इस नाव में सवार होकर किसने भारतीय सीमाक्षेत्र में प्रवेश किया है। स्थानीय खबरों के मुताबिक, नाव की जांच करने पर वह पूरी तरह से खाली थी। बताया यह जा रहा है कि जिस इलाके में पीएम का काफिला रोका गया और जिस क्षेत्र से यह पाकिस्तानी नाव मिली है उस इलाके में कई बार आतंकी गतिविधियों की पुष्टि हो चुकी है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular