Friday, September 23, 2022

मुगलों के हरम में रहती थीं खूबसूरत और जवान लड़कियां, बादशाह के अंदर जाते ही कोई पैर दबाने लगता तो कोई…

- Advertisement -

मुगलों के शाही हरम हमेशा से ही चर्चा का विषय बना रहा है. हरम का अर्थ होता है छिपी हुई जगह. शानदार और आलीशान बड़े महलों में छिपी हुई एक ऐसी जगह जहाँ पर एक से एक सुंदर युवतियां और महिलाऐं रहती थीं. ये हमेशा बादशाह की सेवा के लिए तैयार रहती थीं. ये एक ऐसी जगह होती थी जहाँ पर बादशाह के अलावा कुछ खास लोगों का जाना ही होता था. हर कोई यहाँ नहीं जा सकता था. जैसे ही बादशाह अंदर जाते तो कोई बादशाह के पैर दबाने लगती तो कोई उनका बदन दबाने लगती।

एक से बढ़कर एक सुंदर औरतें-
हरम एक ऐसी जगह होती थी जहाँ पर एक से बढ़कर एक सुंदर महिलाऐं हुआ करती थीं. इस हरम में अच्छा खासा ध्यान रखा जाता था और इसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी कुछ खास और भरोसेमंद सिपाही ही किया करते थे. अंदर की सुरक्षा महिला सिपाहियों के हाँथ में ही रहा करती रही लेकिन बाहर खास और भरोसेमंद सिपाही ही रहा करते थे. कहते हैं की बादशाह अकबर के हरम में लगभग पांच हजार से ज्यादा दासियाँ रहा करती थीं. इनमें से कुछ सैकड़ों के साथ ही अकबर के संबंध बन पाए थे. अकबर इस हरम का बहुत ध्यान रखा करता था.

- Advertisement -

अंदर गए तो बाहर अर्थी में आओगे-
इस हरम में अंदर जाने के लिए औरतों का चुनाव हुआ करता था. अगर कोई औरत एक बार अंदर चली गई तो फिर वो बाहर कभी नहीं आ पाती थी. वो बाहर केवल अर्थी में ही आती थी. अबुल फजल ने आईन-ए-अकबरी में लिखा है कि इस हरम की कोई भी बात बाहर नहीं जाया करती थी. हरम में होने वाली हर छोटी बड़ी घटना के बारे में बादशाह को बताया जाता था. बादशाह हरम का अच्छा ख़ासा ख्याल रखा करते थे.

- Advertisement -

कई शहरों में थे हरम-
मुग़ल काल में कई शहरों में हरम हुआ करते थे. मुख्य रूप से आगरा, फतेहपुर सीकरी, दिल्ली और लाहौर में हुआ करते थे क्योंकि यही वो जगहें थी जहाँ पर अक्सर बादशाह रहते थे. इस हरम के बिना अनुमति के प्रवेश लेने वाले व्यक्ति को सीधे मौत की सजा दी जाती थी. हरम के अंदर जब कभी बादशाह जाया करते थे तो उत्सव का माहौल हुआ करता था.

औरंगजेब के काल में हुआ पतन-
यह हरम बाबर के जमाने से बहुत अधिक प्रचलित था इसके बाद अकबर के समय हरम बहुत फला फूला और यहाँ की बहुत तरक्की हुई लेकिन औरंगजेब का समय आते आते इनका पतन होने लगा क्योंकि यह धीरे धीरे अय्याशियों का अड्डा बनते चले गए.

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular