Thursday, August 18, 2022

70 साल से केरल के इस मंदिर की रखवाली करता है शाकाहारी मगरमच्छ

- Advertisement -

अनंतपुर झील मंदिर केरल

अनंतपुर झील मंदिर केरल की एक घटना ने बता दिया कि प्रकृति के रहस्य कभी कभी किसी को समझ नही आते | भारत में आज भी अनेको पौराणिक स्थल और हिंदू मंदिर ऐसे है जो अपने आप में एक रहस्य समेटे हुए है |

ऐसे ही एक मंदिर की घटना से एक बार सभी आश्चर्य में है | जिसका कारण है मंदिर में रहने वाला मगरमच्छ |  बीते मंगलवार को मंदिर की झील में रहने वाला ये मगरमच्छ मंदिर में प्रवेश कर गया | जिसके बाद तस्वीरे वायरल हो गयी

anantpur jheel mandir kerala , अनंतपुर झील मंदिर केरल , south temple
अनंतपुर झील मंदिर केरल pic source : instagram @ sharath kumar JK

केरल के मंदिर में रहता है शाकाहारी मगरमच्छ

- Advertisement -

बाबिया नामक ये शाकाहारी मगरमच्छ केरल के एक मंदिर में रहता है | इस मगरमच्छ को मंदिर का पुजारी भी कहा जाता है. क्योकि 70 साल से ज्यादा समय से ये इस मंदिर में रह रहा है और आज तक किसी को नही पता कि ये कहाँ से आया था |

ये मगरमच्छ पूरी तरह शाकाहारी है |  और ये मदिर का प्रसाद ही खाता है | आज तक ऐसी कोई घटना नही हुई. जब इस मगरमच्छ की वजह से किसी की जान खतरे में आई हो | हालाकि मगरमच्छ को प्रसाद खिलाने की अनुमति केवल मंदिर के पुजारी के पास है |

anantpur jheel mandir kerala , अनंतपुर झील मंदिर केरल , south temple
मगरमच्छ को प्रसाद खिलाते पुजारी

कहाँ है अनंतपुर झील मंदिर

अनंतपुर झील मंदिर ( anantpur lake temple )केरल के कासरगोड में है | इस मंदिर को पद्मनाभस्वामी मंदिर (तिरुवनंतपुरम) का मूलस्थान माना जाता है | यह केरल का एकमात्र झील मंदिर है | मंदिर झील के बीच में बना है | और हजारो श्रद्धालु यहाँ भगवान् के दर्शन करने आते है |

70 साल से मंदिर में रहता है बबिया मगरमच्छ

- Advertisement -

बाबिया मगरमच्छ को ये नाम मंदिर के पुजारियों ने दिया है | उनका कहना है कि 70 साल से अधिक समय से ये मगरमच्छ यहाँ रहता है |  बबिया मगरमच्छ पूरी तरह शाकाहारी है | अनंतपुर झील मंदिर के पुजारी उसे प्रसाद खिलाते है |

anantpur jheel mandir kerala , अनंतपुर झील मंदिर केरल , south temple
अनंतपुर झील मंदिर केरल pic source : instagram @ sharath kumar JK

जुडी हुई है प्राचीन कहानी

Anantpur lake Crocodile story

केरल के अनंतपुर झील मंदिर पद्मनाभस्वामी मंदिर और इस मगरमच्छ से एक पौराणिक कहानी भी जुडी हुई है | कहा जाता है कि भगवान विष्णु के भक्त श्री विलवमंगलथु स्वामी एक बार अपने आराध्य की पूजा कर रहे थे | तभी वहां एक छोटा बालक आता है | जो उन्हें परेशान करने लगता है | बच्चे के व्यवहार से दुखी हो जाते है | जिसके बाद श्री विलवमंगलथु स्वामी उन्हें धक्का देते है |

बच्चा भगवान् श्रीकृष्ण का रूप था जोकि उन्हें दर्शन देने आये थे | लेकिन इस बात का ज्ञान संत को बाद में होता है | जाते जाते बच्चे के रूप में भगवान् ने कहा था कि मुझे ढूँढने की इच्छा हो तो आपको अनंथनकट आना होगा | बताते है कि वहां भगवान् विष्णु ने उन्हें साक्षात् दर्शन दिये थे

anantpur jheel mandir kerala
मंदिर की झील में घूमता मगरमच्छ pic source : instagram @ sharath kumar JK

जिस जगह पर भगवान् गायब हुए थे वहां एक दरार थी जोकि आज भी है | कहा जाता है कि तभी से ये मगरमच्छ इस जगह की रखवाली करता है |

रहस्यमयी है अनंतपुर झील मंदिर

केरल के अनंतपुर झील मंदिर ,पद्मनाभस्वामी मंदिर और इस बबिया मगरमच्छ की कहानी बहुत रहस्यमयी  है | Anantpur lake temple crocodile story. | आज तक किसी को नहीं मालूम कि बबिया मगरमच्छ कहा से आया है | मंदिर के पुजारी बताते है कि ये मगरमच्छ 70 सालो से मंदिर के तालाब में रहता है | और मंदिर की निगरानी करता है |

उनका ये भी कहना है कि सैकड़ो वर्षो से जब एक मगरमच्छ को कुछ हो जाता है तो दूसरा खुद ब खुद आ जाता है | जिसका किसी को पता नही चलता कि कहा से आया | मंदिर के भक्त इस मगरमच्छ का बहुत सम्मान करते है |और इसे देखना शुभ माना जाता है

 

 

 

 

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular