swami vivekanand saraswati , sikago , books स्वामी विवेकानंद सरस्वती स्वामी विवेकानन्द

संसार विश्वजयी विवेकानंद को याद रखता है,किंतु उनके जीवन के इन आत्मसंघर्षों को विस्मृत कर देता है।

विवेकानन्द  एक “मनुज” और एक “महायोगी” 23 वर्ष की वय में संन्यास लेने वाले विवेकानन्द को यह कहकर ख़ूब उलाहना दिया जाता था कि “स्वामीजी अभाव-संन्यासी हैं या स्वभाव-संन्यासी?” यानी स्वामीजी के मन में सच ही में वैराग्य जगा था या अभाव-विपदा से पीछा छुड़ाने की गरज से उन्होंने कौपीन धारण कर लिया? इस उलाहना […]

swami vivekanand saraswati , sikago , books स्वामी विवेकानंद सरस्वती

“विदावेला में विवेकानंद”- स्वामी विवेकानंद के अंतिम पत्र

विदावेला में विवेकानंद स्वामी विवेकानंद की संपूर्ण ग्रंथावली दस खंडों में प्रकाशित है। इसमें पांचवें खंड से प्रारंभ करके नौवें खंड तक पांच कड़ियों में विवेकानंद पत्रावली भी प्रकाशित है। मित्रों, सहचरों और परिजनों को लिखे इन पत्रों से स्वामीजी के व्यक्त‍ित्व का एक अंतरंग और आत्मीय चित्र उभरकर सामने आता है। और जीवन के […]

aarya invasion theory आर्य

क्या “आर्य” भारत के मूल निवासी नहीं हैं ?

हाल ही में “द हिंदू” में प्रकाशित एक लेख में टोनी जोसेफ़ ने नई जेनेटिक शोध के माध्यम से यह सिद्ध करने का प्रयास किया है कि आर्य भारत के मूल निवासी नहीं थे। लेख ने एक बार फिर तीखी बहस को जन्म दे दिया है। कई तर्क-प्रतितर्क दिए जा रहे हैं। लेकिन टोनी ने […]

चौधरी चरण सिंह chaudhary charan singh

चौधरी चरण सिंह,जिन्होंने सत्ता का रुख शहर से गाँव की तरफ मोड़ दिया!

चौधरी चरण सिंह जी की पुण्यतिथि पर विशेष – कोई जीना ही जिंदगी समझा,और फ़साना बन गया कोई अपनी हस्ती मिटाकर ए-अंजुम,अपनी हस्ती बना गया कोई. सुलक्षणा ‘अंजुम’ द्वारा कही गयी उपरोक्त पंक्तियाँ अक्षरशः सही प्रतीत होती हैं किसानों के मसीहा, स्वाधीनता सेनानी भूतपूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह जी पर . २३ दिसंबर १९०२ को […]

Rajesh pilot राजेश पायलट

जिन बंगलो में कभी बेचा दूध, वहीँ सांसद बनकर पहुंचे थे राजेश पायलट!

  सन 1979 का चुनावी दौर ! आयरन लेडी के नाम से प्रसिद्ध इंदिरा गाँधी  के सामने एक निर्भीक युवा खड़ा था , जिसकी पहचान  अभी तक सिर्फ स्क्वार्डन लीडर “राजेश्वर प्रसाद ” की थी ।इंदिरा ने राजेश्वर प्रसाद को सलाह दी कि राजनीति में कोई स्थायित्व नहीं होता इसलिए नौकरी न छोड़े क्युकि आपके बच्चे […]