डोकलाम विवाद भारत चीन doclam issue india china

डोकलाम पर झुका चीन , सीमा से सेना हटाने को तैयार

72 दिनों तक लगातार चले आ रहे विवाद के बाद अंतत चीन सीमा से पीछे हटने को तैयार हो गया है | इसे रणनीतिक तौर पर भारत के लिए अहम  माना जा रहा है | विदेश मंत्रालय की तरफ से आये बयान से संकेत मिला है कि चीन अपनी जिद भूलाकर सीमा से सेना हटाने […]

बीटल्स बैंड का मशहूर किस्सा जो जुडा है भारत के ऋषिकेश से

ये किस्सा है बीसवी सदी के सबसे बडे राँक बैंड द बीटल्स के भारत भ्रमण का ,जब ब्रितानी पाँप बैंड  द बीटल्स पूरी दुनिया में करोडो दिलो पर अपनी जादुई धुन से राज कर रहा था। साठ के दशक में चार युवाओ के इस बैंड ने वो करिश्मा रचा कि लीवरपूल के इस बैंड ने […]

ताजमहल आगरा tajmahal tazmahal

“ताजमहल” हमारा है, हमें उस पर नाज़ है, और हमेशा रहेगा!

“ताजमहल” हमारा अपना है ! अफ़ज़ाल अहमद की एक नज़्म है, जो हमेशा मेरे ज़ेहन में गूंजती रहती है : “काग़ज़ मराकशियों ने ईजाद किया/हुरूफ़ फ़ोनेशियनों ने/शायरी मैंने ईजाद की!” हर वो चीज़ जो हमारे रोज़मर्रा में शुमार हैं, कहीं ना कहीं, किसी ना किसी ने ईजाद की होती है। सबकुछ किसी एक ने नहीं […]

bharat india hindustan भारत इंडिया हिंदुस्तान भारतीय संसद भवन indian

1947 में हिंदुस्तान का बंटवारा हिंदुस्तान की हत्या थी वैसा हरगिज़ नहीं होना चाहिए था

“इंडिया” जो कि “भारत” है! रामचंद्र गुहा की किताब “इंडिया आफ़्टर गांधी” यूं तो स्‍वतंत्र भारत का राजनीतिक इतिहास है, लेकिन वह एक रूपक भी है. यह रूपक है : “इंडिया : द अननेचरल नेशन.” किताब में कोई भी सवाल हो : बंटवारे का मसला, रियासतों के विलय का मुद्दा, संविधान सभा में कॉमन सिविल […]

इजरायल इंडिया india israel

60 लाख यहूदियों के मरने के बाद उन्होंने पूछा- हमारा वतन कहाँ है ?

इज़रायल, इस्लाम और हम 1940 के दशक के बीच में अचानक हंगारी, पोलैंड, जर्मनी, ऑस्ट्र‍िया के यहूदियों ने पाया था कि वे एक क़तार में खड़े हैं और क़तार ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रही है। यहूदियों के घरों में “गेस्टापो” के जवान घुस जाते और कहते, “बाहर निकलकर क़तार में खड़े हो […]

aarya invasion theory आर्य

क्या “आर्य” भारत के मूल निवासी नहीं हैं ?

हाल ही में “द हिंदू” में प्रकाशित एक लेख में टोनी जोसेफ़ ने नई जेनेटिक शोध के माध्यम से यह सिद्ध करने का प्रयास किया है कि आर्य भारत के मूल निवासी नहीं थे। लेख ने एक बार फिर तीखी बहस को जन्म दे दिया है। कई तर्क-प्रतितर्क दिए जा रहे हैं। लेकिन टोनी ने […]

hindustan हिंदुस्तान हिन्दुस्तान कश्मीर बंटवारा इस्लाम

आप पत्थर फेंकने सड़कों पर उतरे,लेकिन कभी नहीं कहा- इस्लाम बाद में हिंदुस्तान पहले

यहीं पर लाज़िम यहीं के मुस्ल‍िम द्रविड़ों ने नहीं मांगा “द्रविड़-प्रदेश”, अनार्यों ने नहीं मांगा “अनार्यवृत”। पूर्वोत्तर के लोगों से पूछा जाता रहा कि आप कभी “इंडिया” आए हैं और वे मुस्कराकर कहते रहे कि हम “इंडिया” के ही तो हैं, उन्होंने कभी असंतोष से नहीं कहा कि हमें चाहिए सात राज्यों का एक पृथक […]

विजयंत थापर रुख्शाना capt vijyant thapar

आजम खान बकवास करने से पहले कश्मीरी बच्ची की ये कहानी पढ़ लेना

आजम खान को एक सच्ची कहानी सुनाना चाहता हूं..।। 1999..।। एक महज 22 साल का लडका जिसको भारतीय फौज ज्वाईन किये मुश्किल से एक साल हुआ था….उसकी बटालियन 2 राजपूताना राईफल्स को कश्मीर के कुपवाडा मे पाकिस्तानी आतंकवाद का सामना करने हेतु तैनात किया गया। कुपवाडा मे पोस्टिंग के दौरान ये बहादुर फौजी आये दिन […]

विदेशी नीलोत्पल मृणाल foreigner nilotpal mrinal

क्या होगा जब विदेशी भी भारत में भीख मांगने के धंधे में उतर जाएंगे

पिछले साल एक दिन ” ब्रिटेन के मार्टिन को” दिल्ली के कनॉट प्लेस पर गिटार बजा के पैसे इकट्ठे करते देखा था। मैंने उसी दिन अपने साथ के एक मित्र से कहा था कि, अब “भारतीय भिखमंगनी उद्योग” को कड़ी चुनौती मिलने वाली है। मुझे महसूस हुआ था कि, जल्द ही हर क्षेत्र की भांति […]

kahsmir separitist terorist अलगाववादी कश्मीर

कश्मीर एक राजनीतिक नहीं “इस्लामिक” समस्या है

पाकिस्तान की जीत के बाद कश्मीर में ईद मनाई गई. क्यों?  क्या कश्मीर पाकिस्तान है?  नहीं, कश्मीर तो हिंदुस्तान है.  फिर? जवाब बहुत सरल है : क्योंकि कश्मीर “मुसलमान” है. जेएनयू वाले कश्मीर को एक राजनीतिक समस्या बताकर स्वायत्तता और आज़ादी के नारे उछालते रहते हैं. लेकिन वे यह नहीं स्वीकार करते कि कश्मीर मूलतः […]

ठण्ड रखो भाई ! गर्म खाने से मुह जलता है !

1971 में ईस्ट पाकिस्तान आज के बांग्लादेश में पाकिस्तानी सेना एक साथ 3 दुश्मनों से लड़ रही थी । पहली मुक्ति वाहिनी , दूसरी इंडियन आर्मी और तीसरी ईस्ट पाकिस्तान  की बांग्ला भाषी स्थानीय जनता …… सप्लाई लाइन  कट चुकी थी । स्थानीय सपोर्ट बिलकुल नहीं था । पाकिस्तानी सेना अपनी ही धरती पे विदेशी […]