​अल्बर्ट आइंश्टाइन के कान बहुत तेज़ थे!

अल्बर्ट आइंश्टाइन के कान बहुत तेज़ थे! पूरे सौ साल पहले, वर्ष 1916 में, अल्बर्ट आइंश्टाइन ने एक दूरगामी प्रत्याशा जताई थी। उस प्रत्याशा की तरंगें आज आकर हमसे टकरा रही हैं लेकिन आइंश्टाइन ने उन तरंगों को बहुत पहले ही सुन लिया था। आइंश्टाइन के कान सचमुच सवा तेज़ थे! “थ्योरी ऑफ़ जनरल रिलेटिविटी” […]

अन्तरिक्ष space

क्या आप लिफ्ट में बैठ के अंतरिक्ष में जा सकते हैं ?

●The Future Of Space Exploration: Space Elevators● रूस ने 2019 से पहले भेजे जाने वाले सोयुज स्पेस मिशन के लिए नासा के साथ करार किया है कि रूस अपने इस अंतरिक्ष अभियान में नासा के 5 अंतरिक्ष यात्रियों को लिफ्ट देकर पृथ्वी के चक्कर लगाते इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS) पर छोड़ेगा… इसके लिए नासा ने […]

क्या होता अगर मनुष्य पृथ्वी पर पैदा ना हो कर… ब्रह्माण्ड के किसी और ग्रह पर पैदा हुआ होता ?

●LIFE IN THE UNIVERSE● . मुस्लिम धर्म का मत है कि उन्हें बनाने वाला.. उनका खुदा… बादलो की दुनिया के पार… किसी “सातवे आसमान” पर रहता है देखा जाए तो… इस कल्पना के जन्म के पीछे का लॉजिक समझना उतना मुश्किल नहीं है !!! . पृथ्वी से देखने पर… बादलो से घिरा वायुमंडल एक आसमान […]

6 अरब किलोमीटर दूर से ली धरती की ये तस्वीर काफी है इंसान का घमंड तोड़ने के लिए !

●PALE BLUE DOT● . 14 फरवरी, 1990 स्पेसक्राफ्ट अपने ग्रह से बहुत दूर आ चुका था… ब्रह्माण्ड की गहराइयो में 13 वर्षो से अनवरत यात्रा करता और 40000 मील/घण्टा की रफ़्तार से आगे बढ़ता “वॉयेजर-1” प्लूटो ग्रह की कक्षा को पार कर… बाहरी सोलर सिस्टम की अनकही अँधेरी वादियो में प्रवेश कर रहा था जून […]

क्या सैटेलाइट्स भारत पाक बॉर्डर की निगरानी कर सकते हैं

क्या सैटेलाइट्स भारत पाक बॉर्डर की निगरानी कर सकते हैं ●Earth’s Live Streaming By Satellites● शाम के गहराते धुंधलके में… और सुबह के फूटते उजाले में… अपनी छत पर खड़े हो कर आसमान को ध्यान से देखने की कोशिश कीजियेगा चूँकि पृथ्वी गोल है इसलिए शाम को सूरज डूब जाने के बाद भी… कुछ मिनटो […]

विजय सिंह ठकुराय जीवन उत्पत्ति का सिध्धांत theory of evolution

तो भारतीय ग्रंथो में पहले से वर्णित थी डार्विन थ्योरी (जीवन उत्पत्ति का सिद्धांत )??

●First Evolution Theory Of The World● . जीवन की उत्पत्ति की खोज….हमेशा से मानवो के अनुसंधानों की सूची में प्रथम स्थान पर रही है… जीवो की उत्पत्ति के सन्दर्भ में विश्व में सर्वमान्य सिद्धांत डार्विन के द्वारा दिए गए “Evolution” थ्योरी की कुछ ख़ास बाते आज मैं आपको बताता हूँ . 1: डार्विन वाद के […]

धार्मिक आडम्बरो पर प्रहार करता विज्ञान ! – ‘झकझकिया’ की कलम से

●GOD OF THE GAPS● . एक वक़्त था.. जब विश्व के सर्वश्रेष्ठ दिमाग… ये मानते थे कि… पृथ्वी ब्रह्माण्ड का केंद्र है जल पृथ्वी के ऊपर है…. जल से ऊपर वायु वायु से ऊपर अग्नि से बने चाँद सितारे और ये सितारे.. एक “पांचवे दैवीय तत्व” Fifth Element से बने हुए क्रिस्टल के गोलों में […]